Friday, 30 October 2015

बीफ पर गरमाती राजनीती बिगड़ते हालात

आजकल देश में बड़ी समस्यओं को दरकिनार कर सारा ध्यान बीफ पर आकर टिक चूका है अब तो आलम यह है की बिहार चुनावो में भी तमाम अहम् मुदो को दरकिनार कर गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाये इस पर जनता से अधिक मतदान करने को कहा जा रहा है तमाम राजनितिक दल चुनाव जितने के चक्कर में बिजली,पानी ,सडको को भुला कर गाय के मुद्दे को जनता के सामने बढ़ा-चढ़ाके पेश कर रहे है और तमाम साधु-संत समाज भी इस बात पे अड़ गया है की शेर की जगह गाय को भारत का राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाये और गो हत्या पे प्रतिबंध लगाया जाये उनका कहना है की इसी से गायो को बचाया जा सकता है और उनका यह भी कहना है की गाय हमारी माता है उसकी हत्या करना पाप है जो गाय की हत्या करता है उसके सारे वंश का सर्वनाश हो जाता है मैं भी उनकी बात से सहमत हूँ की गायो को बचाया जाना चाहिए और उनकी हत्या पे प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए बिलकुल सही है लेकिन क्या गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने से उनकी हत्या पे रोक लग जाएगी नही ऐसा बिलकुल नही होगा क्यूंकि यदि ऐसा होता तो शायद भारत में शेरो की संख्या ज्यादा होती उनको बचाने के लिए अलग से अभियान चलाना नही पड़ता यदि हम गयो को वाकई बचाना चाहते है तो शांतिपूर्वक ठोस कदम उठाने होंगे ऐसा मैं इसलिए कह रहा हूँ क्यूंकि समाज के कुछ ठेकेदार अपना उल्लू सीधा करने के लिए गोहत्या के नाम पर देश में सांप्रदायिकता का माहौल पैदा कर रहे है भाई-भाइयो को आपस में लड़वा रहे है यदि हम गाय को अपनी माता मानते है तो सोचिये जरा की उस माँ को कैसा लगता होगा जब उसके बच्चे एक दुसरे का खून बहाने को उतारू है क्या बीतती होगी उसके मन में कभी सोचा है हमने बस दुसरो की बातो में आकर बिना कुछ सोचे-समझे कोई गलत कदम उठा लेते है जिसे अंत में किसी को भी लाभ नही पहुँचता दोस्तों पुरे दुनिया में केवल भारत ही एक ऐसा देश है जिसने अपनी संस्कृति सालो से संजो कर रखी है जिसे उसका पूरी दुनिया में नाम हुआ है हमे अपनी इस संस्कृति को गवाना नही है क्यूंकि यही हमे आगे चलकर उज्जल भविष्य की और लेकर जायेगी इसलिए मैं आप सबसे यह कहना चाहूँगा की ऐसी किसी भी बात या घटना को अनसुना कर दे जो देश में जानबूझकर सांप्रदायिक घटनाओ को बढ़ावा देने के लिए की जा रही है आपस में भाईचारे और प्रेम से रहे है क्यूंकि इसे किसी को भी नुकसान नही पहुंचता और इसी मार्ग पे चल कर ही देश का भला हो सकता है जय हिन्द............
Post a Comment