Saturday, 6 February 2016

सम-विषम योजना सफल भी और विफल भी

सम-विषम योजना के बारे में यह कहा जाये की वह सफल भी हुई और विफल भी तो कुछ गलत नही होगा वो इसलिए क्यूंकि जो योजना दुसरे देशो में सफल नही हो पाई उसने भारत में बहुत ही अच्छा किया जिसे सफल बनाने में जनता का बहुत बड़ा योगदान रहा जिसकी वजह से सडको पे से ट्रैफिक जाम से लोगो को रहत मिली और विफल इसलिए क्यूंकि ट्रैफिक तो कम हुआ लेकिन जहाँ तक प्रदूषण का सवाल है उसमे कोई खास सफलता नही मिली दिल्ली में प्रदूषण अभी मानक स्तर से काफी ऊपर है और दिल्ली सरकार योजना को आगे दोबारा शुरू करने के लिए लोगो से सुझाव मांग रही मेरी राय है की योजना को दोबारा शुरू कर देना चाहिए क्यूंकि थोड़ी ही सही सफलता तो हाथ लगी है लेकिन दिल्ली को यदि प्रदूषण मुक्त करना है तो सरकार ऐसी योजनाये या प्रयास करे जिसे की लम्बी अवधि तक फायदा हो क्यूंकि मौजूदा योजना केवल छोटी अवधि तक ही फायदा पहुंचा सकती है जैसे की सम-विषम योजना यदि दिल्ली को प्रदूषणमुक्त करना है और पेरिस सम्मलेन में हुए वातावरण जुड़े संबंध कारको को पूरा करना है तो नॉन-रिन्यूएबल रिसोर्सेज पे चलने वाले उपकरणों को  बढावा देना चाहिए जैसे की बैटरी से चलने वाली गाड़ियाँ, सौर-उर्जा से चलने वाले हीटर,गाड़ियाँ इत्यादि तभी दिल्ली और पुरे देश को प्रदूषण से रहत मिल पायेगी और वातावरण स्वच्छ होगा प्रदूषण की समस्या को समाप्त करनेहेतु केवल सम-विषम योजना पे आश्रित होना दिल्ली सरकार की बहुत बड़ी गलती साबित हो सकती है 
Post a Comment