adcode

Wednesday, 23 March 2016

भारत की मंशा नही बल्कि उसकी मजबूरी है सुपर पॉवर बनना

आजकल हमारे पडोशी मुल्को में भारत को लेकर काफी चिंता व्यक्त कर रहे है| उनका मानना है की भारत हर तरीके से उनसे आगे है और चीन के बाद उभरता हुआ सुपर पॉवर बनने की और अग्रसर है| जो की सही भी है हमारा हिंदुस्तान उभरता हुआ शक्तिशाली देश है यह तो दुनिया भी मानती है| जिसका प्रमाण है की चीन को काउंटर करने के लिए अमेरिका हमारे में दिलचस्पी दिखा रहा है| लेकिन इस बात को लेकर हमारे पडोशी असहज महसूस कर रहे है| लेकिन इसका एक दूसरा पहलु भी है की भारत सिर्फ एक विकसित देश बना चाहता है| सुपर पॉवर तो बना उसकी इच्छा से ज्यादा उसकी मजबूरी है| क्यूंकि सवाल यहाँ उसके वजूद का है| उसके ऊपर चीन का दवाब है| चीन भारत के कई हिस्सों को कब्जाना चाहता है| और उसको जानबूझकर सीमा विवाद में उलझाये रखना चाहता है| यही कारण है की भारतीय प्रधानमंत्री दुनिया भर में दौरा कर हर क्षेत्र में निवेश लाना चाहते है| फिर चाहे वो सैन्य क्षेत्र हो या अर्थव्यवस्था का लेकिन हमारे पडोशी देशो की मीडिया यह कहकर अरज़कता फैला रही है की भारत इलाका चौधरी बना चाहता है| भारत के सैन्य क्षेत्र में निवेश को लेकर तरह-तरह का ब्रह्म फैलाया जा रहा है| जब की सच्चाई यह है की चीन अपनी नीतियों के स्वरुप भारतीय सीमायों में घुसने का दुसहाश करता है| अपनी सैन्य क्षमता बढाकर उस पर निरंतर दवाब बना रहा है| यही कारण है की  भारत तेज़ी से विकास करना चाहता है| क्यूंकि यह उसके लिए एक तरह से प्रतिस्पर्धा है| समय से तेज़ दौड़ने की क्यूंकि एक पल की देरी भी भारत और दुनिया के बीच बहुत बड़ा अंतर पैदा कर सकती है| भगवान् श्रीकृष्ण ने भी कहा है की समय परिवर्तनशील है मनुष्य को समय के अनुसार आचरण करना चाहिए यही हिन्दुस्तान भी कर रहा है क्यूंकि अगर हमे अपने नागरिको के हितों की रक्षा करनी है| तो यह परिवर्तन जरुरी है| चलिए आपके सामने एक तथ्य पेश कर रहा हूँ जो आप में से बहुतों को पता भी होगा और बहुतों को नही भी भारत ने अपनी अग्नि3 और अग्नि5 की जो मारक क्षमता दुनिया को  बताई है वह बताई हुई से दोगुनी है लेकिन हिंदुस्तान ने इसे घटाकर इसलिए बताया ताकि दुनिया भारत के बढ़ते औदे को लेकर चिंतित ना हो| जिसे यह प्रमाणित होता है की भारत की मंशा सुपर पॉवर बने की नही है| लेकिन अगर समय की यही मांग है तो वह इसमें पीछे भी नही हटेगा आप और हम जैसे लोग केवल इसमें अपना योगदान दे सकते है आराम से बैठकर इसका मज़ा ले सकते है क्यूंकि सुपर पॉवर बने का सफ़र अभी लंबा है| आग का दरिया है डूबके जाना|